26 जनवरी पर भाषण हिंदी में PDF-Form में।

0
213

गणतंत्र दिवस, यानी 26 जनवरी, भारतीय अधिनियमन का दिन है जिसे पंडित जवाहरलाल नेहरू ने 1949 में भारत संविधान की समीक्षा में नागरिक समाप्ति के रूप में घोषित किया था। इस खास दिन 26 जनवरी 1950 को भारतीय संविधान की कार्यान्वयन सुरु हुई। इस अवसर पर स्कूलों, कॉलेजों, और सरकारी संगठनों में भाषण किया जाता है।

अगर आप भी 26 जनवरी को इस खास दिन पर भाषण देने की तैयारी कर रहे हैं और जानना चाहते हैं कि एक उत्कृष्ट भाषण कैसे लिखा जाता है, तो निम्नलिखित विवरण आपकी मदद कर सकते हैं।

भाषण लेखन की प्रक्रिया

  1. शुरुआती परिचय: अपने भाषण में शुरूआती अंश में अपने दर्शकों का ध्यान आकर्षित करने के लिए एक छोटा संक्षिप्त परिचय शामिल करें।

  2. मुख्य विचारों का विकास: अपने भाषण के मुख्य भाग में, मुख्य विचारों को सुव्यवस्थित रूप से पेश करें।

  3. उदाहरणों का प्रयोग: अपने विचारों को समझाने के लिए उदाहरणों का प्रयोग करें।

  4. संक्षेप: अपने भाषण को संक्षेपित करते हुए एक संदेश या निवेदन के रूप में समाप्त करें।

  5. सवाल-जवाब: अपने भाषण के अंत में सभी संक्षिप्त सवालों के लिए सामान्य जवाब दें।

भाषण लेखन के उपयुक्त शीर्षक

  • “भारतीय संविधान और गणतंत्र दिवस”
  • “भारतीय सभ्यता और संविधान का महत्व”
  • “एक एकमत समाज की दिशा में बदलाव”
  • “अपने भारत के लिए आदर्श पुरुष/महिलाएं”

FAQs – भाषण लेखन पर आम सवाल

  1. कितने समय के लिए होना चाहिए एक भाषण?
    एक भाषण आमतौर पर 5 से 10 मिनट का होता है, हालांकि अधिक महत्वपूर्ण स्थितियों में इसे 15-20 मिनट तक बढ़ा जा सकता है।

  2. एक अच्छा भाषण लिखने के लिए क्या ध्यान में रखना चाहिए?
    अपने पाठकों की समझ को ध्यान में रखते हुए, आकर्षक प्रस्तावना, स्पष्ट मुद्दे, उदाहरण, और संक्षेप विचार शामिल करें।

  3. हर किसी के सामने भाषण देने से पहले क्या तैयारी करनी चाहिए?
    भाषण के लिखावट के साथ-साथ उचित व्यक्तिगत तैयारी करना महत्वपूर्ण है, जैसे कि व्यायाम, आत्म-विश्वास और उचित अभ्यास।

  4. किस तरह के भाषण सुनने वालों के ध्यान को आकर्षित कर सकते हैं?
    उचित हास्यास्पद तत्व, आपत्तिजनक उदाहरण और अच्छी आवाज का प्रयोग कर सुनने वालों का ध्यान आकर्षित किया जा सकता है।

  5. क्या किसी विशेष वार्तालाप संदर्भ में मानक भाषण उपयुक्त हो सकता है?
    हां, ऐसे मौकों पर मानक भाषण महत्वपूर्ण हो सकता है, क्योंकि यह सांविधानिक नियमों को ध्यान में रखता है और राष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्रदान करता है।

  6. भाषण क्या है और इसका महत्व क्या है?
    भाषण एक अभिव्यक्ति का माध्यम है जिसका मुख्य उद्देश्य सुनने वाले व्यक्तियों को किसी विशेष विषय पर जानकारी, संदेश या विशेष धारणा के बारे में सूचित करना है।

  7. भाषण में कौन-कौन सी वस्तुएँ शामिल की जानी चाहिए?
    उचित दस्तावेज़ संख्या, चित्र, उदाहरण, आदि जैसी वस्तुएँ भाषण को समर्थन देने में सहायक हो सकती हैं।

  8. क्या भाषण में किसी विषय पर विवादित धारणाओं को जिक्र किया जा सकता है?
    हां, यदि विवादित धारणाओं को स्थूल तथ्यों और तर्कों के साथ प्रस्तुत किया जाए, तो भाषण को रोचक और विचारशील बनाने में मदद मिल सकती है।

  9. क्या अद्भुत शैली और अद्वितीय आवाज के साथ भाषण देने से अधिक प्रभावित किया जा सकता है?
    हां, एक अद्वितीय आवाज, सुंदर उच्चारण और अच्छा शैली भाषण को यादगार और प्रभावशाली बना सकते हैं।

  10. क्या किसी भी मुद्दे पर भाषण दिया जा सकता है?
    हां, भाषण किसी भी स्वीकृत या मान्य विषय पर दिया जा सकता है, परंतु ध्यान रखना चाहिए कि सार्वजनिक आकर्षण, संविधानिकता और सच्चाई के अनुसार हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here